Guru Nanak History in Hindi – Free PDF Download

Guru Nanak History in Hindi

Download Biographical Book on History of Guru Nanak in the Hindi Language. If you’re looking out for the life history of the first Sikh Guru Nanak Dev Ji in Hindi, you have landed at the perfect place.

Bookजीवन वृत्तान्त जगतगुरु श्री गुरु नानक देव जी
Writerभाई जसबीर सिंह
EditorNA
Pages441
LanguageHindi
ScriptDevnagari
Size1.71 MB
FormatPDF
PublisherKrantikari Guru Nanak Dev Charitable Trust [Public Domain]

विषय सूची – Index of Guru Nanak’s Hindi Janamsakhi

1 प्रक्कथन अथवा आमुख
2 सहायक पुस्तकों की सूची
3 गुरबाणी व्याकरण
4 भूमिका
5 पृष्ठभूमि

जीवन वृत्तान्त जगतगुरु श्री गुरु नानक देव जी – प्रथम अध्याय

1 प्रकाश
2 बाल्य-काल
3 विद्याध्ययन
4 जनेऊ संस्कार; यज्ञोपवीत
5 नया मार्ग सिद्धांत
6 कृषक रूप
7 सच्चा सौदा
8 विवाह
9 कीर्तन के प्रति वेदना; विरहद्ध
10 सुलतानपुर लोधी प्रस्थान
11 सरकारी नौकरी
12 ‘तेरह नहीं, तेरा ही तेरा’
13 ‘गौना’
14 भाई भगीरथ
15 व्यापारी मनसुख
16 दम्पति में मनमुटाव का निवारण
17 श्री चन्द जी का जन्म तथा मोदीखाने की जांच
18 लक्खमी दास जी का जन्म तथा घर त्यागने की योजना
19. भविष्य का कार्यक्रम
20 मस्जिद में नमाज़

जीवन वृत्तान्त जगतगुरु श्री गुरु नानक देव जी – द्वितीय अध्याय

प्रथम उदासी
मानचित्र प्रथम प्रचार दौरा
1’भाई लालो जी’ सैदपुर; पंजाब
2 हाकिम जालिम खान सैदपुर; पंजाब
3 राय बुलार जी के निमन्त्रण पर तलवण्डी; पंजाब
4 पशुओं का वध्; लाहौर, पंजाब
5 व्यापारी दुनी चन्द; लाहौर, पंजाब
6 भाई मरदाना जी को सीख मिली; उपल गाँव, पंजाब
7 भाई मरदाना जी को शिक्षा उपल गाँव; पंजाब
8 कुम्भ मेला; हरिद्वार, उत्तर प्रदेश
9 वैष्णव साधु का खण्डन; हरिद्वार, उत्तर प्रदेश
10 राजा विजय प्रकाश; गढ़वाल, उत्तर प्रदेश

11 अवतारवाद का खण्डन; कोटद्वार, उत्तर प्रदेश
12 बदरी नाथ मन्दिर; चमोली, उत्तर प्रदेश
13 सिद्धमण्डली से गोष्ठी गुरुदेव सुमेरु पर्वत; कैलाश ‘तिब्बत’
14 चण्डी देवी का खण्डन; अलमोड़ा उत्तर प्रदेश
15 ‘तपोवन’ नैनीताल घाटी; उत्तर प्रदेश
16 ‘गोरख मता / नानक मता’ नैनीताल का तराई क्षेत्र; उत्तर प्रदेश
17 ‘ऋण चुकता’ टांडा नगर; उत्तर प्रदेश
18 ‘दीवाली पर्व’ अयोध्या नगर; उत्तर प्रदेश
19 त्रवेणी घाट; चतुर दास पण्डित प्रयाग; इल्लाहाबाद
20 ‘अक्षयवट वृक्ष’; प्रयाग इल्लाहाबाद

21 जागीरदास हरिनाथ बनारस; उत्तर प्रदेश
22 स्थानीय विद्वानों से गोष्ठी बनारस; उत्तर प्रदेश
23 ‘प्रकृति के अमूल उपहार’ गंगा नदी का तट; पटना, बिहार
24 ‘सालस राय जौहरी’; पटना, बिहार
25 सैयद शेख वजीद सूफी हाज़ीपुर; बिहार
26 पण्डों को उपदेश; गया जी, बिहार
27 भिक्षु देवगृह; बुद्ध गया, बिहार
28 ‘युवक पाली को आशीर्वाद’ रास्ते में; चैबासा, बिहार
29 ‘बसते रहो तथा उजड़ जाओ’ रास्ते में; चाईबासा बिहार
30 ‘डाकुओं का उद्धार’ रास्ते में; केन्दुझरगढ़, उड़ीसा

31 चैतन्य भारती का उद्धार; कटक, उड़ीसा
32 रथ यात्र; जगत नाथ मन्दिर; पुरी नगर, उड़ीसा
33 जगत नाथ मन्दिर; पुरी नगर, उड़ीसा
34 पाखण्डी साधु; पुरी, उड़ीसा
35 कलयुगी पण्डा; पुरी, उड़ीसा
36 शाह सुजाह हावड़ा; बंगाल
37 बड़ी संगत, छाोटी संगत; कलकत्ता, बंगाल
38 भाई भूमिया जी; जैस्सोर, बंगला देश
39 ढाकेश्वरी मन्दिर; ढाका, बंगला देश
40 झंडा वाढ़ी; बढ़ई; चाटो ग्राम, बंगला देश

41 ‘राजा देव लूत’; नागा पर्व, नागालैंड
42 पद्मा; नूरशाहद्ध गोलाघाट; कामरूप/आसाम
43 कामाख्या मन्दिर; ‘गोहाटी’, आसाम
44 पुजारी शंकर देव; धूबड़ी, आसाम
45 पारो नगर; भूटान देश
46 गंगटोक नगर; सिक्कम चुंगथांग; सिक्कम
47 चुंगथांग; सिक्कम
48 ल्हासा नगर; तिब्बत
49 चीन; शंघाई नगर; चीन
50 नानकिंग नगर; चीन

51 पशुपत्ति मन्दिर; नेपाल की राजधनी काठ मंडू
52 बन्धूआ मजदूरों को मुक्ति रुहेलखण्ड; कानपुर में
53 माई जसी; आगरा, उत्तर प्रदेश
54 केशव देव मन्दिर; मथुरा, उत्तर प्रदेश
55 मजनू दरवेश; दिल्ली
56 सम्राट इब्राहीम; दिल्ली नगर
57 शेख शरफ; पानीपत, हरियाणा
58 नारी जाति का सम्मान; करनाल, हरियाणा
59 सूर्य ग्रहण; कुरूक्षेत्र, हरियाणा
60 पण्डों को शिक्षा पेहेवा; पिहोआ, हरियाणा

61 सूफी फ़कीरों को परामर्श; सरसा, हरियाणा
62 बहन से पुन: मिलन; सुलतानपुर, पंजाब
63 परिवार से पुन: मिलन तलवण्डी से पक्खों के रंधावे ग्राम

जीवन वृत्तान्त जगतगुरु श्री गुरु नानक देव जी – तृतीय अध्याय

द्वितीय प्रचार दौरा
मानचित्र द्वितीय प्रचार दौरा

1 शाह सुहागिन; दीपालपुर, पंजाब
2 कुष्ट रोगी का उपचार; दीपालपुर, पंजाब
3 शेख ब्रह्म जी; पाकपटन, पंजाब
4 गुग्गा का खण्डन; बीकानेर, राजस्थान
5 दरगाह खवाजा मूईद्दीन चिश्ती; अजमेर, राजस्थान
6 पुष्कर तीर्थ; अजमेर, राजस्थान
7 भाई मरदाना जी और कंदमूल अजमेर से चित्तौड़गढ; राजस्थान
8 अवतारवाद का खण्डन; चित्तौड़गढ़, राजस्थान
9 नाथद्वार; पण्डों का ऐश्वर्य; उदयपुर, राजस्थान
10 जैनी साधु; आबू पर्वत, राजस्थान

11 गया जी का विकल्प स्थान; भीम उडयार, गुजरात
12 दलदल क्षेत्र का पुनरवास; लखपत नगर, गुजरात
13 वाम मार्गीयों को उपदेश; भुज नगर, गुजरात
14 आशा पूर्णनी देवी; मांडवी नगर, गुजरात
15 कृतिम चिन्हों का खण्डन; द्वारका, गुजरात
16 मूर्तियों का विसर्जन पोरबन्दर; सुदामा नगरी, गुजरात
17 भक्त नरसी का गांव; जूनागढ़, गुजरात
18 डण्डी संन्यासी मण्डली; गिरनार पर्वत, गुजरात
19 कायरता की निंदा; सोम नाथ मन्दिर के समक्ष, गुजरात
20 जैनी साधु ‘अनभी’; पालिताणा नगर, गुजरात

21 सत्संगत की महिमा; भाव नगर, गुजरात
22 नाम की महिमा; साबरमती अहमदाबाद, गुजरात
23 महाजन द्वारा शोषण; बड़ोदरा नगर, गुजरात
24 जमीदार द्वारा शोषण; सूरत नगर, गुजरात
25 स्वांगी गुरू नासिक; पंचवटीद्ध, महाराष्ट
26 नारी जाति का अपमान ठाणे शिव मन्दिर; अमर नाथ महाराष्ट
27 ज्ञान ही गुरू; जिला पूणे, महाराष्ट्र
28 अश्लील मू£तयों की भत्र्सना रंग पट्टम नगर; कर्नाटक
29 भिक्षा-पैतृक विरासत का अपमान;पाणाजी, गोआ
30 देव दासी प्रथा की भत्र्सना; मैसूर नगर, कर्नाटक

31 मधुर संगीत की महिमा; बेंगलूर, कर्नाटक
32 पशु वध्; बलीद्ध की भत्र्सना; पालघाट, कर्नाटक
33 समय/श्वासों के सदुपयोग पर बल; कालीकट, कर्नाटक
34 अनैतिक यौन सम्बन्धें पर फिटकार; कोचीन, केरला
35; त्रिवेन्द्रम, केरलाद्ध स्वांगी साधु, संन्यासीयों को ललकार
36 प्रकृति सौन्दर्य पर न्यौछावर कुमारी अन्तरीप; कन्या कुमारी
37 राजा शिवनाभ मटिया कलम; कोलम्बो
38 का£तकय मन्दिर; कत्तरगामा नगर, श्रीलंका
39 एकीश्वर के अस्तित्व पर गोष्ठी; वटीकलोवा बन्दरगाह, श्री लंका
40 बौद्धभिक्षुकों के साथ गोष्ठी; ट्रिंकोमली नगर, श्री लंका

41 प्रेम ही पूजा है; अनुराधपुरा, श्री लंका
42 दिव्य ज्योति की उपासना ही सर्वोत्तम; रामेश्वरम, तामिल नाडू
43 ज्ञान और श्रा दोनों अनिवार्य; मदुरै नगर, तामिल नाडू
44 कर्म ही प्रधन है; श्री रंगम, त्रिच्रापल्ली तामिल नाडू
45 विवेक बुद्धि का होना अनिवार्य; तंजावुर नगर, तामिल नाडू
46 श्रमिकों की समस्या का समाधन; नागापट्नम बंदरगाह, तामिल नाडू
47 श्रमिकों के अन्र्तजातीय विवाह; जकार्ता, इन्डोनेशिया
48 आदिवासी कबीलों का उत्थान; सिंगापुर
49 त्री सूत्रीय कार्यक्रम कल्याणकारी; कवालालम्पुर, मलेशिया
50 आडम्बरों पर प्रभु नहीं रीझता; कुंभकोनम नगर, तामिल नाडू

51 परमेश्वर का कोई प्रतिद्वन्दी नहीं; करानूर नगर, तामिल नाडू
52 प्रकृति के दृढ़ नियम; पाण्डीचेरी
53 उज्ज्वल आचर्ण में आत्म कल्याण; कांचीपुरम नगर, तामिल नाडू
54 विचार की कसोटी से शुभ कर्म; तिरूपति मन्दिर, आंध्र प्रदेश
55 शनि देवते का खण्डन; कुड़प्पा नगर, आंध्र प्रदेश
56 कपिल मुनि का आश्रम; गंटूर नगर, आंध्र प्रदेश
57 जग दिखावे पर आलोचना; विजयवाडा नगर, आंध्र प्रदेश
58 मसकीनियां पहलवान; हैदराबाद नगर, आंध्र प्रदेश
59 जनहित में जल की व्यवस्था; बिदर नगर, कर्नाटक प्रदेश
60 सईयद शाह हुसैन फ़क्कड़; नांदेड़ नगर, महाराष्ट्र

61 पतिव्रता होने की सीख दौलताबाद; औरंगाबाद नगर, महाराष्ट्र
62 ओंकारेश्वर मन्दिर; खण्डवा क्षेत्र, मध्य प्रदेश
63 साध्-संगत की महिमा; इन्दौर नगर, मध्य प्रदेश
64 हृदय की पवित्रता ही स्वीकार्य; उज्जैन नगर, मध्य प्रदेश
65 आदिवासी भील कबीले का सरदार कौडा राक्षस; भीलवाडा क्षेत्र, राजस्थान
66 राजपूत चौधरी धर्म सिंह; जयपुर नगर, राजस्थान
67 तीर्थों पर भटकना व्यर्थ; रिवाड़ी नगर, हरियाणा
68 संसार मिथ्या है; हिसार नगर, हरियाणा
69 श्रमिकों में आस्था जाग्रित; बठिण्डा नगर, पंजाब
70 दौलत खान से पुनर मिलन; सुलतान नगर, पंजाब
71 पिता पुत्र में सैद्धांतिक मतभेद; तलवण्डी नगर, पंजाब
72 भाई दोदा जी; पक्खो के रँधावे ग्राम, पंजाब

जीवन वृत्तान्त जगतगुरु श्री गुरु नानक देव जी – चौथा अध्याय

तृतीय प्रचार दौरा
मानचित्र तृतीय प्रचार दौरा

1 जीवन सार्थक करने की युक्ति; चम्बा नगर, हिमाचल
2 निराकार उपासना ही फलीभूत होती है; कांगड़ा नगर, हिमाचल प्रदेश
3 अंध् विश्वासों का खण्डन; ज्वाला मुखी मन्दिर क्षेत्र, हिमाचल प्रदेश
4 निर्विघ्न प्रीति भोज; बैज नाथ नगर, हिमाचल प्रदेश
5 ज्योति स्वरूप प्रभु का अनुभव; कुल्लू नगर, हिमाचल प्रदेश
6 मन हाथी, गुरू शब्द रूपी अंकुश; मनीकरण, हिमाचल
7 हरिनाम रूपी धन अर्जित करने की प्रेरणा; मण्डी, हिमाचल प्रदेश
8 रूप-यौवन के अभिमान त्यागे; रवालसर, हिमाचल प्रदेश
9 काल्पनिक देवताओं की पूजा वर्जित; बिलासपुर, हिमाचल प्रदेश
10 गडरीये बुडन को दीर्घ आयु; कीरतपुर, पंजाब

11 भूमि पंचायत को मिली; नालागढ़, हिमाचल
12 भजन करने की प्रेरणा; पिंजौर ग्राम, हरियाणा
13 प्रभु पर दृढ़ भरोसा; धर्मपुर, हिमाचल प्रदेश
14 पुरुषार्थी होने की सीख; सपाटू, हिमाचल प्रदेश
15 पशुबलि पर आक्रोश; जोहड़सर, हिमाचल प्रदेश
16 जल की समस्या का समाधन; माहीसर, हिमाचल प्रदेश
17 व्यापारीयों के शोषण विरुद्धअन्दोलन; ज्ञार्सा नगर, तिब्बत
18 हृदय की पवित्रता ही स्वीकार्य; रुडोक नगर, तिब्बत
19 प्रभु स्वयम्बू है; लद्दाख का चशूल गांव, काशमीर
20 प्रभु हमारे घट में ही बसता है; लेह नगर, लद्दाख क्षेत्र

21 कुख्यात दस्यु का कल्याण; बासगो, लद्दाख क्षेत्र
22 गडरीये को दिशा निर्देश; सर्कदू गांव, लद्दाख क्षेत्र
23 योगीयों के बारह पंथ; बाल-टाल क्षेत्र, काशमीर
24 गोष्ठी-नाथ पंथीयों से; गुरुदेव अमर नाथ के मैदान में, काशमीर
25 निराकार प्रभु की आराध्ना की महिमा;पहलगाम नगर, काशमीर
26 गोष्ठी-पण्डित ब्रह्म दास; मटन नगर, काशमीर
27 हृदय की शुद्धि पर बल; अनंतनाग नगर, काशमीर
28 सेवा सिमरन से अन्तःकरण स्वच्छ; आवन्ती पुर, काशमीर
29 विकारों से मुक्ति के लिए प्रार्थना; श्री नगर, काशमीर
30 एक मात्र पुस्तकीय ज्ञान का खण्डन;बारामूला नगर क्षेत्र, काशमीर

31 साधु वेष में धन अर्जित करने की आलोचना;उड़ी क्षेत्र, काशमीर
32 सत्य मार्ग के पांधियों पर संतुष्ट; मुज़फराबाद नगर, काशमीर
33 वली कंधरी; हसन अबदाल-पंजा साहिब, पंजाब
34 सदा रहन-सहन पर बल; रावल पिंडी नगर, पंजाब
35 गुरुदेव जेहलम; बाल गुदाई क्षेत्र में; पंजाब
36 गुजरात नगर; पंजाब
37 पीर हम्जा गौस स्यालकोट नगर; पंजाब
38 दन्त कथा दुर्गा देवी; कटड़ा कस्बा, जम्मू क्षेत्र
39 रघूनाथ मन्दिर; जम्मू नगर, कशमीर
40 सूफी फ़कीर मीयां मिट्ठा जी; पसरूर नगर, पंजाब

41 चौधरी अजिता जी से परामर्श; पक्खो के रंधवा ग्राम, पंजाब
42 बेबे नानकी जी का देहान्त; सुलतानपुर, पंजाब

जीवन वृत्तान्त जगतगुरु श्री गुरु नानक देव जी – अध्याय पाँचवा

चतुर्थ प्रचार दौरा
मानचित्र चतुर्थ प्रचार दौरा

1 सज्जण तथा कज्जण शाह; तुलम्बा कस्बा, पंजाब
2 फ़कीर बहाउद्दीन मखदूम; मुल्तान नगर, पंजाब
3 पीर शेख अबदुल बुखारी मखदूम; उच्च नगर, पंजाब
4 महिलाओं की समस्याओं का समाधन;सख्खर नगर, सिंध
5 जुलाहा दाउद; दादू नगर, सिंध
6 देवी देवताओं के चक्रव्यू से मुक्ति; हिंगलाज नगर, सिंध
7 अरब देशों को प्रस्थान; सोनमयानी बन्दरगाह, सिंध
8 मधुर मोसीकी हराम नहीं; अदन नगर, अरब देश
9 गोष्ठी-इमाम रुकनदीन के साथ; मक्का नगर, साउदी अरब
10 गोष्ठी-इमाम अब्दुल रहमान; मदीना नगर, अरब देश

11 सम्राट हमीद; कारू; मिश्र के काहिरा नगर, मिश्र देश
12 चिंतन मनन आवश्यक; येरुश्लम नगर, इज़राईल
13 सत्संगत अनिवार्य; इस्तम्बोल नगर, टर्की
14 चैदह तबकों का खण्डन; बगदाद नगर, इराक
15 खुदा का बन्दा हूं बन्दगी मेरा काम; तहरान नगर, ईरान
16 मुहम्मद साहब और अली एक सम; मशहद नगर, ईरान
17 प्रार्थना ही फलदायक; बुख़ारा नगर, तुर्कमानिस्तान
18 साध्-संगत का महत्त्व; ताशकंद नगर, उजबेगीस्तान
19 धार्मिक परिधन महत्वहीन; समरकंद नगर, तुर्कमेतिनस्तान
20 संसार एक मेला है; बल्लख नगर, अफ़ग़ानिस्तान

21 दीर्घ आयु महत्त्वहीन; कंधर नगर, अफ़ग़ानिस्तान
22 पीर रोशन जमीर; काबुल नगर, अफ़ग़ानिस्तान
23 काया अमूल्य निधि जलालाबाद नगर, अफगानिस्तान
24 मठ गोरख हटड़ी; पिशावर नगर, सीमा प्रांत
25 बाबर का आक्रमण सैदपुर,; ऐमनाबाद-पंजाब
26 माता पिता से मिलन; तलवण्डी ग्राम, पंजाब
27 बुढा नामक किशोर; कत्थू नंगल ग्राम, पंजाब
28 घर पर स्थाई वापसी; पक्खों के रंधवे ग्राम, पंजाब

जीवन वृत्तान्त जगतगुरु श्री गुरु नानक देव जी – अन्तिम; छठा अध्याय

1 चौधरी अजिता जी को उपदेश
2 करतारपुर नगर बसाया
3 स्यालकोट के व्यापारी मूल चन्द की मृत्यु
4 मर्यादा तथा दैनिक जीवन
5 वैरागी साधु
6 गुरुदेव अचल बटाला के मेले में
7 कत्थू नंगल का समर्पित किशोर
8 भगता ओहरी तथा जापू वंसी
9 भाई जोध जी तथा फिरणा जी
10 शीहां तथा गज्जण जी

11 गुरुदेव के माता-पिता का देहान्त
12 पृथा और खेडा
13 पृथ्वी मल तथा रामां डंडी सन्यासी
14 भाई मालो और भाई मांगा
15 कर्मचन्द; कालू
16 शेख मालो जी
17 शेख उबारे खान
18 अब्दुल रहमान
19 सुलतानपुर के पुराने मित्र से मिलन
20 भाई मरदाना जी का देहान्त

21 भाई लहणा जी
22 मुलायम चन्द; मूलाद्ध
23 भाई लहणा जी गुरू सेवा में समर्पित
24 विशिष्टि शिष्यों का प्रशिक्षण
25 उत्तराधिकारी के लिए परीक्षण
26 ध्र्मशाला की दीवार का पुनः निमार्ण
27 मृतक चूहे के शव की खोज
28 अर्धरात्रि में वस्त्रों की धुलाई
29 उचित उत्तर
30 बूझो तो जाने

31 कड़ी साधना
32 संगत को सन्तुष्ट किया
33 ओलों की वर्षा
34 अन्तिम परीक्षा
35 उत्तराधिकारी की घोषणा
36 परम ज्योति में विलय

Download Now

Write a Review

Relevant Entries

Next Post

Today's Hukamnama

More Downloads

Editor's Pick